Home Home बुरी खबर: उभरती पहलवान रितिका फोगाट ने की खुदकुशी, गीता व बबिता...

बुरी खबर: उभरती पहलवान रितिका फोगाट ने की खुदकुशी, गीता व बबिता फोगाट की ममेरी बहन थी रितिका

231
0

संवाद सूत्र
नयी दिल्ली, 18 मार्च। भारतीय खेल जगत के लिए एक दुखद खबर आई है। उभरती हुई महिला पहलवान रितिका फोगाट ने खुदकुशी कर ली है। रितिका भारत की मशहूर महिला पहलवान गीता और बबीता फोगाट की ममेरी बहन थी। बताया जा रहा है कि वह भरतपुर में हुए कुश्ती टूर्नामेंट का फाइनल मैच एक प्वाइंट से हार गई थी। इससे वह इतनी आहत हो गई कि अपने फूफा महाबीर सिंह फोगाट और गीता-बबीता के मायके बलाली गांव में बने घर में फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। रितिका फोगाट का अंतिम संस्कार उसके पैतृक गांव राजस्थान के झुंझुनूं जिले के जैतपुर में किया गया। मृतका के परिजनों से मिली जानकारी के अनुसार, महज़ 17 साल की रितिका फोगाट अंतरराष्ट्रीय  पहलवान बनने का सपना लेकर    अपने फूफा द्रोणाचार्य अवार्डी पहलवान महाबीर फोगाट की एकेडमी में कुश्ती के गुर सीख रही थी। रितिका पिछले पांच साल से पहलवान महाबीर फौगाट के घर पर बने अखाड़े में ही प्रशिक्षण ले रही थी। जानकारी के अनुसार,
उसने 15 मार्च की रात को अपने कमरे में पंखे से दुपट्टे का फंदा लगा कर फांसी लगा ली।
गौरतलब है कि 12 से 14 मार्च तक भरतपुर के लोहागढ़ स्टेडियम में राज्य स्तरीय सब-जूनियर, जूनियर महिला व पुरुष कुश्ती प्रतियोगिता हुई थी। 14 मार्च को हुए फाइनल मुकाबले में पहलवान रितिका फोगाट चैंपियनशिप में हार गई। इस हार से उसे बड़ा सदमा पहुंचा। 15 मार्च को वह वापस अपने फूफा पहलवान महाबीर फौगाट के अखाड़े में आई थी और रात को ही उसने अपने कमरे में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली।
सूचना पाकर झोझूकलां पुलिस  मौके पर पहुंची और शव कब्जे में लेकर मंगलवार सुबह सिविल अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाया। इसके बाद रितिका का अंतिम संस्कार उसके पैतृक गांव राजस्थान के झुंझुनूं जिले के जैतपुर में किया गया। अपनी बुआ की बेटी अंतरराष्ट्रीय महिला पहलवान गीता व बबीता फोगाट की तरह ही रितिका भी अंतरराष्ट्रीय पहलवान बनाना चाहती थी। इसके लिए वह 2016 से अपने फूफा महाबीर फोगाट से कुश्ती का प्रशिक्षण ले रही थी।

फोगाट बहनें (गीता और बबीता) नई दिल्ली में आयोजित 2010 राष्ट्रमंडल खेलों में क्रमशः स्वर्ण और रजत पदक जीतने के बाद चर्चा में आईं। गीता फोगाट भारत की पहली महिला पहलवान थीं जिन्होंने CWG में स्वर्ण पदक जीता था। इसके अलावा उन्होंने 2012 के लंदन ओलंपिक में राष्ट्र का प्रतिनिधित्व भी किया था। बाद में, उनकी छोटी बहन रितु फोगाट एक पेशेवर मिक्सड मार्शल आर्ट फाइटर हैं और वन चैम्पियनशिप में भाग लेती हैं। उनकी चचेरी बहन विनेश फोगाट दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फ्रीस्टाइल पहलवानों में से एक हैं। देश को उनसे टोक्यो ओलंपिक में पदक की उम्मीद है।
गीता और बबीता फोगाट तब और भी चर्चित हुईंं, जब फिल्म अभिनेता आमीर खान ने उनके जीवन पर आधारित फिल्म दंगल बनाई थी। इससे दोनों बहनें देश ही नहीं, पूरी दुनिया की नजर में आ गईं।