Home उत्तराखंड संभल जाओ:  एंबुलेंस को रास्ता नहीं दिया तो लगेगा दस हजार जुर्माना...

संभल जाओ:  एंबुलेंस को रास्ता नहीं दिया तो लगेगा दस हजार जुर्माना या छह महीने की जेल

155
0

यातायात नियमों को तोड़ने वालों Uttarakhand Traffic Eyes App में होगा फोटो युक्त चालान

संवाददाता

देहरादून, 21 दिसंबर।

यातायता निदेशक केवल खुराना ने एंबुलेंस का रास्ता रोकने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी है। उन्होंने राज्य के यातायात व्यवस्था को सुचारु रुप से चलाने  एवं सड़क दुर्घटनाओं पर प्रभावी अंकुश लगाने राज्य के जनपदों में यातयात व्यवस्था में सुधार लिए निर्देश जारी किए हैं।

निदेशक यातायात के अनुसार अकसर देखा जाता है कि कुछ लोगों द्वारा यातायात में एम्बुलेंस को रास्ता नहीं दिया जाता है जो कि किसी के जीवन के लिए काफी घातक हो सकता है। एम्बुलेंस का रास्ता रोकने वालों के लिए एमवी एक्ट में धारा 194 e के अन्तर्गत 10000  रूपये  जुर्माने या छह माह तक के कारावास या दोनों का प्रावधान भी है। ऐसे मामलों को काफी गम्भीरता से लेते हुए उक्त वाहन चालकों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जाए। अगर सोशल मीडिया या अन्य माध्यमों से एम्बुलेंस का रास्ता रोकने की सूचना मिलती है तो ऐसे वाहन चालकों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जाये। चौराहों/तिराहों पर यातायात व्यवस्था हेतु नियुक्त पुलिस कर्मियों को निर्देशित किया जाए कि प्रत्येक परिस्थिति में  एम्बुलेंस वाहनों को मार्ग दिया जाए।

बताया कि यातायात निदेशालय द्वारा यातायात में कार्यरत पुलिस बल को बेहतर बनाने के लिए आधुनिक प्रशिक्षण  कार्यक्रम कराये जा रहे हैं इसी को ध्यान में रखते हुए  IRTE के साथ मिलकर निरीक्षक एवं उपनिरीक्षक के लिए Road Safety Management & Accident Investigation प्रशिक्षण कार्यक्रम  13 जनवरी से 15 जनवरी 2021 तक देहरादून में चलाया जाएगा। जिसका  उद्देश्य सड़क सुरक्षा/यातायात नियमों के कानूनों के सार को समझना, Traffic control Device (Road signs, Signals & Road marking)की जानकारी प्रदान करना, यातायात नियमों /सड़क सुरक्षा के उल्लंघनों  की पहचान, सड़क दुर्घटनाओं की विवेचना एवं साक्ष्य संकलन, पहाड़ी क्षेत्रों में यातायात प्रबन्धन, प्रवर्तन एवं सड़क दुर्घटनाओं की विवेचना में आने वाली समस्याएं के बारे में जानकारी देना है।

यातायात निदेशालय द्वारा आम लोगों के लिए Uttarakhand Traffic Eyes App बनवाया गया है।  जिसका उद्देश्य यातायात नियमों को तोड़ने वालों के खिलाफ प्रर्वतन की कार्यवाही में भी आम लोगों की भागीदारी कराना है। Uttarakhand Traffic Eyes App में अब जिसका चालान होगा उसके चालान  की पूर्ण जानकारी app में रहेगी।  Uttarakhand Traffic Eyes App में चालान होते ही जिस वाहन संख्या का चालान होगा उस वाहन संख्या के पंजीकृत स्वामी के मोबाईल पर उक्त चालान के भुगतान हेतु  link चला जायेगा।

Uttarakhand Traffic Eyes App में जिनके द्वारा शिकायत की जायेगी उनकी  शिकायत पर क्या कार्यवाही हुई ,का विवरण उक्त के Status में आ जायेगा। Ø Uttarakhand Traffic Eyes App में जिसका चालान होगा उसकी फोटो चालान पर्ची में भी होगी। यातायात निदेशालय द्वारा जनपदों से ई-चालान के सम्बन्ध में विवरण मंगवाया गया है कि ई-चालान मशीनों के द्वारा प्रर्वतन की कार्यवाही ठीक प्रकार से की जा रहा है या नहीं। यातायात निदेशायल द्वारा आम लोगों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए ई-चालान मशीनों में Online Payment app की सुविधा भी उपलब्ध करायी जा रही है ।