Home उत्तराखंड एम्स: इंटीग्रेटेड ब्रेस्ट कैंसर सेंटर का दूसरा स्थापना दिवस समारोह

एम्स: इंटीग्रेटेड ब्रेस्ट कैंसर सेंटर का दूसरा स्थापना दिवस समारोह

41
0

सत्येंद्र सिंह चौहान

ऋषिकेश, 05 सितंबर। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में इंटिग्रेटेड ब्रेस्ट कैंसर सेंटर (आईबीसीसी) का द्वितीय स्थापना दिवस कार्यक्रम मनाया गया। इस अवसर पर कोविड19 संक्रमण से सुरक्षा के मद्देनजर गूगल मीट के माध्यम से केक कटिंग सेरेमनी का आयोजन किया गया। शनिवार को एम्स ऋषिकेश में स्थापित स्पेशल कैंसर सेंटर के स्थापना दिवस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने बताया कि एम्स में स्थापित आईबीसीसी का कांसेप्ट अमेरिका के एक हॉस्पिटल से लिया गया है, जिसमें हमने पाया कि वहां पर मरीज को एक ही छत के नीचे सभी सुविधाएं व उपचार दिया जाता है। मरीज को एक ही स्थान पर कई विभागों के चिकित्सक परीक्षण व उपचार दे सकते हैं। निदेशक एम्स पद्मश्री प्रो. रवि कांत ने बताया कि आईबीसीसी के खाते में पिछले दो साल में काफी सफलताएं दर्ज हो चुकी हैं। निदेशक एम्स ने स्पेशल कैंसर सेंटर के सफल संचालन के लिए आईबीसीसी प्रमुख प्रो. बीना रवि, डा. अंजुम सईद, डा. प्रतीक शारदा एवं सेंटर की संपूर्ण टीम को बधाई दी। उन्होंने प्रो. बीना रवि की एक ही विषय महिलाओं में अत्यधिक पाए जाने वाले ब्रेस्ट कैंसर की बीमारी को लेकर गंभीरता से कार्य करने व इस दिशा में उनके प्रयासों के लिए प्रशंसा की। आईबीसीसी प्रमुख प्रो. बीना रवि  ने बताया कि कैंसर सेंटर में अब तक लगभग 9 हजार ब्रेस्ट से संबंधित बीमारियों के मरीज पंजीकृत हुए हैं,जिनमें से 3 हजार मरीज ब्रेस्ट कैंसर से ग्रसित थे। जिनमें से 2 हजार महिला रोगियों का उपचार पूर्ण किया जा चुका है व वह अब पूरी तरह से स्वस्थ है, जबकि 1 हजार मरीजों का ब्रेस्ट कैंसर का उपचार सफलतापूर्वक चल रहा है। उन्होंने महिलाओं में पाई जाने वाली इस सबसे गंभीर बीमारी का उपचार ऋषिकेश एम्स में सुलभ कराने के लिए निदेशक एम्स पद्मश्री प्रो. रवि कांत  का आभार जताया व आईबीसीसी की टीम का धन्यवाद ज्ञापित किया। सेंटर के असिटेंट प्रोफेसर डा. प्रतीक शारदा ने निदेशक एम्स प्रो. रवि कांत , डीन एकेडमिक प्रो. मनोज गुप्ता जी, आईबीसीसी प्रमुख प्रो. बीना रवि  व डा. अंजुम सईद का धन्यवाद ज्ञापित किया कि उनकी देखरेख व ​निरंतर प्रयासों से सेंटर बेहतर तरीके से संचालित हो रहा है और इसके परिणाम भी काफी आ रहे बेहतर हैं। उन्होंने भरोसा दिलाया कि सेंटर की टीम भ​विष्य में भी बेहतर परिणाम देने के लिए सतत प्रयासरत रहेगी। डीन प्रो. मनोज गुप्ता व डीन हॉस्टिपल अफेयर्स प्रो. यूबी मिश्रा ने आईबीसीसी के सफल संचालन के लिए सभी को बधाई दी। इस अवसर पर डा. आकृति कपूर, डा. सतीश चैतन्य, डा. अनन्या, डा. मृगांकी, डा. गंगोत्री मौजूद थे।